चने की दाल ऐसे बनाओगे तो अंगुलियां चाटते रह जायेंगे – Chane Ki Dal Ki Sabji

चने की दाल खाने में बहुत ही स्वादिष्ट और लाजवाब होती हैं. आमतौर पर इसे हर घर में बनाया जाता है. चना दाल स्वाद में चटपटी और मसालेदार भी होती है.  इसे बनाना भी बहुत ही आसान है और हम इसे बहुत ही आसान तरीके से बना सकते हैं. चना दाल खाने से हमें बहुत फायदे मिलते हैं. इस स्वादिष्ट दाल को हम शादियों में और पार्टियों में अक्सर खाते हैं.

चने की दाल ढाबा और रेस्टोरेंट में काफी टेस्टी बनाई जाती है. आपको ढाबा और रेस्टोरेंट जाने की जरूरत नहीं है. क्योंकि आप घर पर ही बहुत ही स्वादिष्ट और आसान तरीके से इसे बना सकते हैं. इसे बनाने के लिए हमें सिर्फ 30 मिनट का समय लगता है. 

इसे बनाने के लिए जो भी सामग्री की जरूरत पड़ती है. वहां हमें अपने घर पर आसानी से मिल जाती है. बच्चे दाल खाने में जिद करते हैं. अगर आप उनके लिए स्वादिष्ट दाल बना कर देंगे तो वह बहुत ही शौक से खाएंगे.  

रोजाना हम दाल बनाते रहते हैं. अगर आप अपने घर पर  इस तरीके से दाल बनाओगे तो यकीन ना मानो आप इसे दोबारा बनाकर जरूरत खाओगे. इसे हम चना दाल तड़का भी कहते हैं. यहां एकदम ढाबा स्टाइल में बनी हुई चना दाल तड़का है. इसे हम रोटी चपाती चावल या नान के सर्व कर सकते हैं.

अगर अमित का तड़का सही से लगाएंगे तो दाल का स्वाद लाजवाब हो जाएगा. इस पोस्ट को आप अच्छे से पढ़ कर इस रेसिपी को आप तैयार कर सकते हैं. अगर आपको यहां रेसिपी अच्छी लगे तो कमेंट करके जरूर बताओ. तो आइए देखते हैं  कैसे बनाते हैं चना दाल रेसिपी.

हलवाई स्टाइल आलू गोभी की सब्जी बनाने का आसान तरीका

पालक पनीर इस प्रकार बनाएंगे तो उंगलिया चाटते खाओगे 

चने की दाल बनाने की सामग्री

चना दाल  200 ग्राम

टमाटर  2 (कटी हुई)

लाल मिर्च  3 

हरी मिर्च  3 (बारीक कटी हुई)

लाल मिर्च पाउडर  ½ छोटा चम्मच

हल्दी पाउडर  ½ छोटा चम्मच

धनिया पाउडर  1 छोटा चम्मच

गरम मसाला  ¼ छोटा चम्मच

अदरक का पेस्ट 1 छोटा चम्मच

जीरा 1/2 छोटा चम्मच

हींग चुटकीभर 

हरा धनिया  2 से 3 बड़े चम्मच

स्वादानुसार नमक

पानी  2 कप

चने की दाल बनाने की विधि – Chane Ki Dal ki Sabji

सबसे पहले हमें चने की दाल को 3-4 घंटे पानी में भिगोकर रख लीजिए.

अब दाल का पानी निथार लीजिए.

फिर प्रेशर कूकर में चने की दाल, 1½ कप पानी, नमक और ¼ हल्दी डालकर दाल को 4-5 सीटी लगाकर पका लीजिए.

प्रेशर खत्म होने के बाद कूकर का ढक्कन निकाल लीजिए.

तड़का बनाने की विधि 

एक कड़ाही लेकर इसमें घी डालकर मीडियम आंच पर गर्म होने के लिए रखिए.

अब इसमें जीरा और हींग डाल कर तड़काएं.

इसके बाद इसमें बची हुई हल्दी, अदरक का पेस्ट, धनिया पाउडर डालकर सभी मसालों को हल्का सा भून लीजिए.

फिर इसमें हरी मिर्च और लाल मिर्च डाल कर थोड़ी देर और इसे भून लीजिए.

अब इसमें कटे हुए टमाटर और लाल मिर्च को डाल कर टमाटर के नरम होने तक पकने दीजिये.

अब कुकर से दाल निकाल कर इस मसाले में डालकर अच्छी तरह मिला लीजिए.

फिर इस दाल में  ½ कप पानी डालकर 4 से 5 मिनट तक पकने दीजिये.

अब इस दाल में गरम मसाला और धनिया पत्ता डाल कर और इसे ढककर 4-5 मिनट तक धीमी आंच पर और पकने दीजिए.

अब हमारी चने की दाल बनकर तैयार है.  इस तैयार चने की दाल को रोटी, पराठा, चावल या नान के सर्व करें.

दोस्तों इस रेसिपी को एक बार आप जरूर ट्राई करें अगर आपको इस रेसिपी अच्छी लगे तो मुझे कमेंट करके जरूर बताएं.

चने की दाल कुकर में कितनी सीटी में बनती है?

अगर आप दाल को 2 घंटा पानी में भीगा कर रख लेते हैं तो केवल एक से दो सीटी में दाल अच्छी तरह से पक जाएंगी. सबसे पहले चने की दाल कुकर में पानी के साथ डाल कर इसके बाद कुकर की लिड को अच्छी तरह से बंद कर लीजिए. और यहां भी चेक कर लीजिए कि कुकर में ठीक से प्रेशर बन रहा है या नहीं, इसके साथ गैस की आंच को धीमा ही रखिए. 

दाल कितनी सीटी में होती है?

दाल को 2 सीटी आने तक दाल पक जाती है. अगर आप दाल को 2 घंटा पानी में भीगा कर रख लेते हैं तो केवल एक से दो सीटी में दाल अच्छी तरह से पक जाएंगी.

चना की दाल भिगोकर खाने से क्या होता है?

भीगी हुई चने की दाल खाने से शरीर में आयरन और खून की कमी को दूर कर सकते हैं.
चने की दाल में प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम, विटामिन और फाइबर की अधिक मात्रा में होने के कारण शरीर को ऊर्जा प्रदान करने में हमें मदद करता है.

दाल में पानी कितना डालना चाहिए?

दाल को पकाते समय पानी की मात्रा पर ध्यान देना चाहिए. जैसे कि एक कप दाल में 2 से 3 कप पानी डालना चाहिए.

चने की दाल गर्म होती है क्या?

चने की दाल भी बिल्कुल मूंग की दाल की तरह ठंडी होती है. इसमें पाए जाने वाले प्रोटीन और खनिजों से शरीर की एनर्जी लेवल बढ़ते हैं. चने की दाल का सेवन करने से हमारे शरीर में आयरन और खून की कमी दूर होती है.

चने की दाल में कौन सी विटामिन मिलती है?

चने की दाल का सेवन करने से बहुत सारे फायदे हैं. चने की दाल में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है. इसके अलावा इसमें बी-कॉम्पलेक्स विटामिन जो होता है ग्लूकोज मेटाबोलिज्म में महत्वपूर्ण भूमिका अच्छे से निभाता है. इसके अलावा चने की दाल में एंटी ऑक्सीडेंट गुण भी मौजूद होते हैं जो हमारे शरीर के अंगों को सूजन से हमें बचाते हैं.

kitchen hindi
kitchen hindi
Articles: 269

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x