इस तरीके से गुलाब जामुन बनाओगे तो कभी खराब नही बनेंगे – Gulab Jamun Banane Ki Vidhi Bataiye

मुलायम और स्पंजी चाशमी में भीगे हुए स्वादिष्ट मीठे गुलाब जामुन खाना सबको पसंद आता है. हम हलवाई की दुकान पर जो गुलाब जामुन देखते हैं हमें वैसे ही घर पर बनाने का मन करता है. यहां भारत की फेमस और बहुत ही स्वादिष्ट स्वीटी रेसिपी है. आज हम आपको इसको बनाने का सबसे आसान तरीका बताएंगे.

आपने भी कहीं पार्टियों में या शादियों में इसे खाए होंगे और इसे घर पर भी बनाया होगा. आज हम आपको गुलाब जामुन बनाने का सबसे आसान तरीका बताएंगे. नरम नरम गुलाब जामुन इतने स्वादिष्ट होते हैं. इसे देखकर खाने का मन करता है.

इसे बनाने के लिए हमें बाजार में बहुत सारे मिक्स उपलब्ध है. लेकिन जो हम घर पर इसे बनाते हैं उसकी बात कुछ अलग रहती है. इसमें जो केसर और इलायची की खुशबू आती है. इसी वजह से हर लोग इसे खाना पसंद करते हैं. यहां सबसे प्रसिद्ध और लोकप्रिय भारतीय स्वीट रेसिपी है.

इसको कुछ त्योहारों में बनाया जाता है. और हम आम तौर पर भी इसे बना सकते हैं. इसे बनाने के लिए भी बहुत ही कम समय लगता है. आप एक बार खाओगे तो बार-बार बनाकर खाना पसंद करोगे. तो आइए हम देखते हैं गुलाब जामुन बनाने का सबसे आसान तरीका.

हलवाई जैसा शादियों वाला गाजर का हलवा कैसे बनाएं

केवल तीन चीज़ो से बनाये बाजार जैसी काजू कतली

गुलाब जामुन बनाने की सामग्री

मैदा 1 कप

खोया (मावा)  250  ग्राम

घी  250 ग्राम

इलायची  5

केसर के धागे  10 से 12

चीनी  2 कप

बेकिंग सोडा  ¼ छोटा चम्मच

गुलाब जामुन बनाने की विधि – Gulab Jamun Banane Ki Vidhi Bataiye

सबसे पहले हमें गुलाब जामुन बनाने के लिए खोया को अच्छी तरह से मैश कर ले. ताकि इसमें जो भी गुठलिया चल जाए.

अब एक बर्तन लेकर उसमें खोया (मावा), मैदा और बेकिंग सोडा को अच्छे से मिला लीजिए.

अब इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी मिलाते हुए इस मिक्स को ज्यादा कड़क या ज्यादा पतला ना होने दें नहीं तो हमारे गुलाब जामुन तलते समय टूट जाते हैं.

अभी इसे डोह को एक साइड में रख दीजिए.

अब हमें चाशनी बनाने के लिए पैन मैं 2 कप पानी डालकर गैस पर गर्म होने के लिए रखिए. 

पानी में उबाल आते ही इसमें चीनी मिलाकर चाशनी को गाढ़ा होने तक पकने दीजिए. (हमें उंगली से एक बार  इसका चिपचिपा पन चेक कर लेना चाहिए)

फिर इसमें इलायची के दाने और केसर के धागे मिला लीजिए. 2 मिनट बाद गैस को बंद कर दे और इसे ठंडा होने के लिए साइड में रख लीजिए. 

हमें गुलाब जामुन डोह को अपने हाथों से छोटे-छोटे बोल जैसा बना लीजिए. 

गुलाब जामुन तलने के लिए पैन लेकर इसमें घी डालकर गर्म होने के लिए गैस पर रखिए.

घी गर्म होने पर इसमें पहले से बना कर रखे हुए बोल को घी मैं थोड़ा ब्राउन कलर आने तक फ्राई कर लीजिए. अपने सारे बोल को इसी तरह फ्राई कर लीजिए. (अगर जामुन तलते समय टूट जाते हैं तो इसमें थोड़ा मैदा और पानी को मिला लीजिए)

इन सभी जामुन को ठंडा होने के लिए एक प्लेट में निकाल कर रख लीजिए.

अब फिर से एक बार चाशनी को थोड़ा गर्म करके गैस को बंद कर दीजिए. जामुन के ठंडे होते ही इसे चाशनी में  डाल लीजिए.

अब इसे 1 घंटे तक छोड़ दे ताकि जामुन चाशनी में नरम हो जाए.  1 घंटे बाद हमारे गुलाब जामुन नरम हो जाएंगे.  अब हमारे नरम नरम गुलाब जामुन बनकर तैयार है. इसे हमें परिवार वालों या किसी दोस्तों के साथ खाते हुए इसका खूब मजा ले. 

सुझाव:  गुलाब जामुन को हमें कम से कम  1 से 2 घंटे तक चाशनी में रहने देना चाहिए. अगर हम इसे 4 से 5 घंटे तक चाशनी में रखने से यहां और भी स्वादिष्ट और टेस्टी लगते हैं.

गुलाब जामुन फटने पर क्या करे?

यदि आप के गुलाब जामुन फट रहे है या ज्यादा नरम हो जा रहे हैं. तो आप मावे के आटे में थोड़ा मैदा मिलाकर अच्छी तरह से मल लें. अगर आप के गुलाब जामुन बहुत सख्त बन रहे हों तो मावा के आटे में थोड़ा सा दूध मिलाकर अच्छी तरह इसे मल लें. कभी भी हमें अधिक गरम चाशनी में गुलाब जामुन नहीं डालना चाहिए.

मेरे गुलाब जामुन बहुत नरम क्यों नाम होते हैं?

अगर आप गुलाब जामुन में बेकिंग सोडा का ज्यादा इस्तेमाल करते हो तो वहां ज्यादा नरम हो जाएंगे और तेल में तलते समय भी अलग हो जाते हैं. गुलाब जामुन तलने के बाद तुरंत चाशनी में ना डालें कुछ देर के लिए इसे ठंडा करके चाशनी में डालिए. आप इस प्रकार करने से आपके गुलाब जामुन कभी भी नरम नहीं होंगे.

2 किलो दूध में कितना खोया निकलता है?

2 किलो दूध में ज्यादा से ज्यादा 200 से 250 ग्राम का खोया निकलता है.

गुलाब जामुन की चाशनी कितने तार की होती है?

गुलाब जामुन की चाशनी बनाने के लिए 1 तार की चाशनी तैयार करना चाहिए.  गुलाब जामुन के लिए एक तार की चाशनी परफेक्ट रहेंगी. 

kitchen hindi
kitchen hindi
Articles: 269

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x